COMPUTER, ,

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है? – हिंदी में जानें।

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है? – हिंदी में जानें।

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है? (WHAT IS OPERATING SYSTEM IN HINDI)

आज हम जानेंगे की ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है? (What is Operating System in Hindi) जैसा की हम जानते है की Operating  System   एक System   सॉफ़्टवेयर है जिसमें Computer  को बूट करते समय लोड किए गए प्रोग्राम शामिल होते हैं। यह अन्य एप्लीकेशन्स को चलाने के लिए भी जिम्मेदार होता है Operating  System   उपयोगकर्ता, एप्लीकेशन प्रोग्राम, hardware  और System   बाह्य उपकरणों के बीच  इंटरफ़ेस के रूप में कार्य करता है।

एक Operating  System   में प्रोग्राम का एक समूह होता है, जो Computer  System   के विभिन्न घटकों की गतिविधियों को नियंत्रित करता है, समन्वय करता है और संचालन करता है। यह एक प्रोग्राम है जो उपयोगकर्ता और hardware  के बीच इंटरफ़ेस के रूप में कार्य करता है। इस इंटरफ़ेस के द्वारा उपयोगकर्ता Computer  के hardware  संसाधनों का उपयोग बहुत कुशलता से करता है। Operating  System   (OS) विशेष प्रोग्राम्स (Specialised Programs) का एक संगठित कलेक्शन होता है जो Computer  के उचित संचालन को नियंत्रित करता हैं। यह एक प्रोग्राम है जो उचित बूटिंग के लिए किसी भी Computer  पर होना चाहिए।

Operating  System   के प्रकार (TYPES OF OPERATING SYSTEM IN HINDI)

Operating  System   को निम्नलिखित रूप में वर्गीकृत किया गया है:

Operating  System   दो प्रकार के होते है: नेटवर्क Operating  System   (NOS) और स्टैंडअलोन डेस्कटॉप Operating  System   यानी क्लाइंट Operating  System  । उदाहरण के लिए —

Windows Server 2012

Windows Server 2008

Windows Server 2003

Unix

Linux

NetWare

Windows 10

Windows 8/8.1

Windows 7

Windows XP Professional

Windows 2000 Professional

Windows 95/98

MS-DOS

उपभोक्ताओं की संख्या के आधार पर Operating  System   को दो भागो मे विभाजित किया जाता है:-

  1. एकल उपयोगकर्ता (Single User Operating System): यह Operating System  का एक प्रकार है जो एक समय में केवल एक उपयोगकर्ता को ही एक्सेस करने की अनुमति देता है। पर्सनल Computer  (PC) के लिए इस्तेमाल होना वाला Operating  System   एकल उपयोगकर्ता ओएस है जो एक समय में एक कार्य का प्रबंधन करने के लिए डिज़ाइन किए गए होते हैं। उदाहरण: एमएस-डॉस, विंडोज 3 एक्स, विंडोज 95/97/98 आदि।
  2. बहुल उपयोगकर्ता (Multi User Operating System): यह Operating System  एक साथ कई उपयोगकर्ताओं को एक Computer  System   को एक साथ एक्सेस करने की अनुमति देता है। यह Computer  नेटवर्क में प्रयोग किया जाता है जो एक ही समय में एक ही डेटा और एप्लीकेशन्स को एकाधिक उपयोगकर्ताओं द्वारा एक्सेस करने की अनुमति देता है। उदाहरण: विंडोज़ 10, लिनक्स आधारित ओएस, मैक ओएस, उबंटू, यूनिक्स आदि।

इसे भी पढ़े –

लैपटॉप खरीदने से पहले 9 चीजें का रखें खयाल Buy Laptop

 रैम क्‍या होता है What Is Ram ?

कंप्यूटर क्या होता है | What Is Computer in Hindi

 

काम करने के मोड के आधार इन्हें निम्नलिखित भागो मे वर्गीकृत किया जाता है:

1)  मांड लाइन इंटरफेस (Command Line Interface): यह करैक्टर यूजर इंटरफेस (CUI) के रूप में भी जाना जाता है, सीयूआई एक इंटरफ़ेस है जिसके द्वारा हम Computer System  से टाइपिंग के द्वारा इंटरैक्ट करने का एक तंत्र होता है। विशिष्ट कार्य करने के लिए उपयोगकर्ता के द्वारा कमांड्स का इस्तेमाल किया जाता है, इन कमांड्स के द्वारा स्वचालित रूप से काम करना आसान हो जाता हैं। सीएलआई केवल टेक्स्ट टाइप्स का उपयोग करता है इन कमांड्स का इस्तेमाल हम एमएस-डॉस में करते है।

2)  ग्राफिकल यूजर इंटरफेस (Graphical User Interface): यह एक Computer प्रोग्राम है जो किसी व्यक्ति को प्रतीकों, विसुअल्स और पॉइंटिंग उपकरणों के इस्तेमाल से Computer के साथ संचार करने में सक्षम बनाता है। पहला ग्राफिकल यूजर इंटरफेस 1970 के दशक में ज़ेरॉक्स कार्पोरेशन द्वारा डिजाइन किया गया था। हम रोजाना ग्राफिकल यूजर इंटरफेस वाले उपकरणों का इस्तेमाल करते है, जैसे कि एमपी 3 प्लेयर, पोर्टेबल मीडिया प्लेयर, गेमिंग डिवाइसेज़, आदि में पाई जा सकती हैं।

Operating  System   के कार्य (FUNCTIONS OF OPERATING SYSTEM IN HINDI)

Operating  System   एक बड़ा और जटिल सॉफ़्टवेयर है जिसमें कई घटक शामिल होते हैं। यह Computer  System   से जुड़े सभी संसाधनों के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार होता है।

निम्नलिखित कार्यों उपयोगकर्ताओं की सुविधा के लिए एक Operating  System   द्वारा प्रदान की जाती हैं।

1)  प्रक्रिया प्रबंधन (Process Management): प्रोसेस एक प्रोग्राम है जो Computer  में प्रोसेसर (सीपीयू) द्वारा निष्पादित किया जाता है। Operating  System   प्रक्रियाओं का सृजन (Creation) और विलोपन (Deletion) संभालता है और एक प्रोसेस के शेड्यूलिंग और सिंक्रनाइज़ेशन को भी प्रबंधित करता है। प्रक्रिया प्रबंधन एक Operating  System   का महत्वपूर्ण हिस्सा है जो एक प्रक्रिया की योजना (Planning), नियंत्रण (Controlling) और प्रदर्शन (Performance) की गतिविधियों को सक्षम करता है।

2 ) Memory प्रबंधन (Memory Management): Operating  System   की Memory प्रबंधन विभिन्न प्रक्रियाओं के लिए मुख्य Memory की एलोकेशन और डी-अलोकन का ध्यान रखता है। प्राथमिक Memory को मैनेज करना, साझा करने और कम से कम Memory एक्सेस का समय प्रबंधित करना है। यह Memory उपयोग का ट्रैक भी रखता है और पूरे System   के प्रदर्शन के लिए Memory प्रबंधन करता है।

3)  फाइल प्रबंधन (File Management): Operating  System   के फ़ाइल प्रबंधन मॉड्यूल विभिन्न स्टोरेज उपकरणों के साथ फ़ाइलों को स्थानांतरण करता है। फाइल प्रबंधन में फ़ाइलों और डायरेक्ट्रीज दोनों को बनाने और हटाने, फ़ाइलों के लिए स्थान आवंटित करना, बैकअप रखने, सुरक्षित करना तथा फ़ाइलों तक आसानी से पहुंचना शामिल है।

4)  इनपुट/आउटपुट मैनेजमेंट (Input/Output Management): इनपुट/आउटपुट मैनेजमेंट मॉड्यूल के द्वारा Computer  विभिन्न इनपुट और आउटपुट डिवाइसेस अर्थात् टर्मिनल, प्रिंटर, डिस्क ड्राइव, टेप ड्राइव इत्यादि को असाइन करता है। इनपुट / आउटपुट मैग्जमेंट मॉड्यूल सभी I/O डिवाइसों को नियंत्रित करता है, IO अनुरोधों का ट्रैक रखता है, यह सुनिश्चित करता है की I/O डिवाइसेस कुशलतापूर्वक और सही ढंग से काम कर रहा है या नही।

Operating  System   की आवश्यकता (WHY WE NEED AN OS?)

जैसा की हम जानते है की बिना Operating  System   के Computer  का कोई अस्तित्व नही है बिना Operating  System   Computer  एक खाली डिब्बे के सामान है। यह उपयोगकर्ता और Computer  के hardware  के बीच इंटरफ़ेस का काम करता है अगर आपके Computer  System   में Operating  System   इनस्टॉल न हो तो आपके कीबोर्ड (Keyboard), मॉनिटर (Monitor), माउस (Mouse), सीपीयू (CPU) आदि के बीच कभी भी संबंध स्थापित नही हो पायेगा। Operating  System   ही समस्त hardware  घटकों के बिच सम्बंध स्थापित करती है इसके द्वारा ही उपयोगकर्ता तनाव रहित होकर अपना काम करता है क्योंकि यही Computer  System   के सभी साधनो को व्यवस्थित करती है। इसके द्वारा ही समस्त कार्य किए जाते है जैसे:- Memory प्रबंधन, मल्टी प्रोसेसिंग, मल्टी प्रोग्रामिंग, फाइल प्रबंधन, मल्टी टास्किंग, मल्टी थ्रेडिंग, इनपुट/आउटपुट प्रबंधन आदि।

इसे भी पढ़े –

Money Earning Apps In India [September 2019]

RozDhan ऐप क्या है? RozDhan ऐप से पैसे कैसे कमाए ?

4FUN App  से महीने के 5000₹ – 10000₹ कैसे कमाए Full-Trick

 

 

Author Since: Aug 30, 2019

My Name Is Pappu Bandod

Related Post